Hindi Quotes Part 3

दोस्तों , हिंदी उद्धरण पर किसी भी व्यक्ति या संस्था का कॉपीराइट नहीं होता अतः मैंने विभिन्न जगहों से आप के लिए ही संकलित किया है आप स्वतंत्र हैं इन उद्धरणों का उपयोग करने के लिए …..अपने विकास के लिए इन्हे मनचाहे रूप में उपयोग में लीजिये ..मेरा सिर्फ उद्देश्य है आपका व्यक्तिगत सम्पूर्ण विकास ..

Q: I give the knowledge, to those who are ever united with Me and lovingly adore Me.
हिंदी में : मैं उन्हें ज्ञान देता हूँ जो सदा मुझसे जुड़े रहते हैं और जो मुझसे प्रेम करते हैं.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: I look upon all creatures equally; none are less dear to me and none more dear. But those who worship me with love live in me, and I come to life in them.
हिंदी में : मैं सभी प्राणियों को सामान रूप से देखता हूँ; ना कोई मुझे कम प्रिय है ना अधिक. लेकिन जो मेरी प्रेमपूर्वक आराधना करते हैं वो मेरे भीतर रहते हैं और मैं उनके जीवन में आता हूँ.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: A Self-realized person does not depend on anybody except God for anything.
हिंदी में : प्रबुद्ध व्यक्ति सिवाय ईश्वर के किसी और पर निर्भर नहीं करता.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: One attains the eternal imperishable abode by My grace, even while doing all duties, just by taking refuge in Me.
हिंदी में : मेरी कृपा से कोई सभी कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए भी बस मेरी शरण में आकर अनंत अविनाशी निवास को प्राप्त करता है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Only the fortunate warriors, O Arjuna, get such an opportunity for an unsought war that is like an open door to heaven.
हिंदी में : हे अर्जुन, केवल भाग्यशाली योद्धा ही ऐसा युद्ध लड़ने का अवसर पाते हैं जो स्वर्ग के द्वार के सामान है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: God is in everything as well as above everything.
हिंदी में : भगवान प्रत्येक वस्तु में है और सबके ऊपर भी.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The wise do not rejoice in sensual pleasures.
हिंदी में : बुद्धिमान व्यक्ति कामुक सुख में आनंद नहीं लेता.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q0: Neither do I see the beginning nor the middle nor the end of Your Universal Form.
हिंदी में : आपके सार्वलौकिक रूप का मुझे न प्रारंभ न मध्य न अंत दिखाई दे रहा है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The one who sees inaction in action, and action in inaction, is a wise person.
हिंदी में : जो कार्य में निष्क्रियता और निष्क्रियता में कार्य देखता है वह एक बुद्धिमान व्यक्ति है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: I am the sweet fragrance in the earth. I am the heat in the fire, the life in all living beings, and the austerity in the ascetics.
हिंदी में : मैं धरती की मधुर सुगंध हूँ . मैं अग्नि की ऊष्मा हूँ, सभी जीवित प्राणियों का जीवन और सन्यासियों का आत्मसंयम हूँ.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: You grieve for those who are not worthy of grief, and yet speak the words of wisdom. The wise grieve neither for the living nor for the dead.
हिंदी में : तुम उसके लिए शोक करते हो जो शोक करने के योग्य नहीं हैं, और फिर भी ज्ञान की बाते करते हो.बुद्धिमान व्यक्ति ना जीवित और ना ही मृत व्यक्ति के लिए शोक करते हैं.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: There was never a time when I, you, or these kings did not exist; nor shall we ever cease to exist in the future.
हिंदी में : कभी ऐसा समय नहीं था जब मैं , तुम ,या ये राजा-महाराजा अस्तित्व में नहीं थे, ना ही भविष्य में कभी ऐसा होगा कि हमारा अस्तित्व समाप्त हो जाये.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Works do not bind Me, because I have no desire for the fruits of work.
हिंदी में : कर्म मुझे बांधता नहीं, क्योंकि मुझे कर्म के प्रतिफल की कोई इच्छा नहीं.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Both you and I have taken many births. I remember them all, O Arjuna, but you do not remember.
हिंदी में : हे अर्जुन ! हम दोनों ने कई जन्म लिए हैं. मुझे याद हैं , लेकिन तुम्हे नहीं.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The one who truly understands My transcendental birth and activities, is not born again after leaving this body and attains My abode.”
हिंदी में : वह जो वास्तविकता में मेरे उत्कृष्ट जन्म और गतिविधियों को समझता है, वह शरीर त्यागने के बाद पुनः जन्म नहीं लेता और मेरे धाम को प्राप्त होता है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: To those ever steadfast devotees, who always remember or worship Me with single-minded contemplation, I personally take responsibility for their welfare.”
हिंदी में : अपने परम भक्तों, जो हमेशा मेरा स्मरण या एक-चित्त मन से मेरा पूजन करते हैं , मैं व्यक्तिगत रूप से उनके कल्याण का उत्तरदायित्व लेता हूँ.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Karma-yoga is a supreme secret indeed.
हिंदी में : कर्म योग वास्तव में एक परम रहस्य है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q0: Karma does not bind one who has renounced work.
हिंदी में : कर्म उसे नहीं बांधता जिसने काम का त्याग कर दिया है.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The wise should work without attachment, for the welfare of the society.
हिंदी में : बुद्धिमान व्यक्ति को समाज कल्याण के लिए बिना आसक्ति के काम करना चाहिए.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: For those who wish to climb the mountain of spiritual awareness, the path is selfless work. For those who have attained the summit of union with the Lord, the path is stillness and peace.
हिंदी में : जो व्यक्ति आध्यात्मिक जागरूकता के शिखर तक पहुँच चुके हैं , उनका मार्ग है निःस्वार्थ कर्म . जो भगवान् के साथ संयोजित हो चुके हैं उनका मार्ग है स्थिरता और शांति.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Though I am the author of this system, one should know that I do nothing and I am eternal.
हिंदी में : यद्द्यापी मैं इस तंत्र का रचयिता हूँ , लेकिन सभी को यह ज्ञात होना चाहिए कि मैं कुछ नहीं करता और मैं अनंत हूँ .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: They all attain perfection When they find joy in their work.
हिंदी में : जब वे अपने कार्य में आनंद खोज लेते हैं तब वे पूर्णता प्राप्त करते हैं.
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: One who abandons all desires and becomes free from longing and the feeling of ‘I’ and ‘my’ attains peace.
हिंदी में : वह जो सभी इच्छाएं त्याग देता है और “मैं ” और “मेरा ” की लालसा और भावना से मुक्त हो जाता है उसे शांती प्राप्त होती है .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: There is no one hateful or dear to Me. But, those who worship Me with devotion, they are with Me and I am also with them.
हिंदी में : मेरे लिए ना कोई घृणित है ना प्रिय .किन्तु जो व्यक्ति भक्ति के साथ मेरी पूजा करते हैं , वो मेरे साथ हैं और मैं भी उनके साथ हूँ .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Those who long for success in their work here [on the earth] worship the demigods.
हिंदी में : जो इस लोक में अपने काम की सफलता की कामना रखते हैं वे देवताओं का पूजन करें .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: I give heat, I send as well as withhold the rain, I am immortality as well as death.
हिंदी में : मैं ऊष्मा देता हूँ , मैं वर्षा करता हूँ और रोकता भी हूँ , मैं अमरत्व भी हूँ और मृत्यु भी .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The evil doers, the ignorant, the lowest persons who are attached to demonic nature, and whose intellect has been taken away by Maya do not worship or seek Me.
हिंदी में : बुरे कर्म करने वाले , सबसे नीच व्यक्ति जो राक्षसी प्रवित्तियों से जुड़े हुए हैं , और जिनकी बुद्धि माया ने हर ली है वो मेरी पूजा या मुझे पाने का प्रयास नहीं करते .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Quote50: Whosoever desires to worship whatever deity with faith, I make their faith steady in that very deity.
हिंदी में : जो कोई भी जिस किसी भी देवता की पूजा विश्वास के साथ करने की इच्छा रखता है , मैं उसका विश्वास उसी देवता में दृढ कर देता हूँ .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Quote51: I know, O Arjuna, the beings of the past, of the present, and those of the future, but no one really knows Me.
हिंदी में : हे अर्जुन !, मैं भूत , वर्तमान और भविष्य के सभी प्राणियों को जानता हूँ , किन्तु वास्तविकता में कोई मुझे नहीं जानता .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The unsuccessful yogi is reborn, after attaining heaven and living there for many years, in the house of the pure and prosperous.
हिंदी में : स्वर्ग प्राप्त करने और वहां कई वर्षों तक वास करने के पश्चात एक असफल योगी का पुन: एक पवित्र और समृद्ध कुटुंब में जन्म होता है .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The mind alone is one’s friend as well as one’s enemy.
हिंदी में : केवल मन ही किसी का मित्र और शत्रु होता है .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: I am seated in the hearts of all beings.
हिंदी में : मैं सभी प्राणियों के ह्रदय में विद्यमान हूँ .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: There is nothing, animate or inanimate, that can exist without Me.
हिंदी में : ऐसा कुछ भी नहीं , चेतन या अचेतन , जो मेरे बिना अस्तित्व में रह सकता हो .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: The One who leaves the body, at the hour of death, remembering Me attains My abode. There is no doubt about this.
हिंदी में : वह जो मृत्यु के समय मुझे स्मरण करते हुए अपना शरीर त्यागता है, वह मेरे धाम को प्राप्त होता है . इसमें कोई शंशय नहीं है .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Those who have no faith in this knowledge follow the cycle of birth and death without attaining Me.
हिंदी में : वह जो इस ज्ञान में विश्वास नहीं रखते , मुझे प्राप्त किये बिना जन्म और मृत्यु के चक्र का अनुगमन करते हैं .
Srimadbhagwadgita श्रीमद्भगवद्गीता
Q: Winners don’t do different things, they do things differently.
हिंदी में : जीतने वाले अलग चीजें नहीं करते, वो चीजों को अलग तरह से करते हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q: Winners see the gain; losers see the pain.
हिंदी में : जीतने वाले लाभ देखते हैं, हारने वाले दर्द.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Under Adverse conditions – some people break down, some break records
हिंदी में : विपरीत परस्थितियों में कुछ लोग टूट जाते हैं , तो कुछ लोग लोग रिकॉर्ड तोड़ते हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:If you think you can – you can! If you think you cannot – you cannot! And either way……..you are right !”
हिंदी में : अगर आप सोचते हैं कि आप कर सकते हैं-तो आप कर सकते हैं !अगर आप सोचते हैं कि आप नहीं कर सकते हैं- तो आप नहीं कर सकते हैं !और किसी भी तरह से …आप सही हैं.!
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Character building does not start when a child is born; it starts 100 years before when a child is born.
हिंदी में : चरित्र का निर्माण तब नहीं शुरू होता जब बच्चा पैदा होता है; ये बच्चे के पैदा होने के सौ साल पहले से शुरू हो जाता है.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Justice is truth in action
हिंदी में : सत्य का क्रियान्वन ही न्याय है.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:A nation does not become great by shouting slogans
हिंदी में : एक देश नारे लगाने से महान नहीं बन जाता.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:The lack of a degree is actually an advantage. If you are an engineer or a doctor, there is only one job you can do. But if you don’t have a degree, you can do anything.
हिंदी में : किसी डिग्री का ना होने दरअसल फायेदेमंद है. अगर आप इंजिनियर या डाक्टर हैं तब आप एक ही काम कर सकते हैं.पर यदि आपके पास कोई डिग्री नहीं है , तो आप कुछ भी कर सकते हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:We don’t have business problems we have people problems.
हिंदी में : हमारी बिजनेस से सम्बंधित समस्याएं नहीं होतीं , हमारी लोगों से सम्बंधित समस्याएं होती हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q0:If we are not a part of the solution, then we are the problem
हिंदी में : अगर हम हल का हिस्सा नहीं हैं, तो हम समस्या हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:It is never the activity of rascals that destroys a society, but always the inactivity of the good people that does it.
हिंदी में : कभी भी दुष्ट लोगों की सक्रियता समाज को बर्वाद नहीं करती, बल्कि हमेशा अच्छे लोगों की निष्क्रियता समाज को बर्वाद करती है.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Whenever a person says I cannot do this he is really saying two things. Either I don’t know how to do it or I don’t want to do it.
हिंदी में : जब कभी कोई व्यक्ति कहता है कि वो ये नहीं कर सकता है , तो असल में वो दो चीजें कह रहा होता है. या तो मुझे पता नहीं है कि ये कैसे होगा या मैं इसे करना नहीं चाहता.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Inspiration is thinking whereas motivation is action.
हिंदी में : इन्स्पीरेशन सोच है जबकि मोटीवेशन कार्रवाई है.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Self-esteem is inversely related to egos.
हिंदी में : आत्म-सम्मान और अहंकार का उल्टा सम्बन्ध है.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:People don’t care how much you know they want to know how much you care.
हिंदी में : लोग इसकी परवाह नहीं करते हैं कि आप कितना जानते हैं, वो ये जानना चाहते हैं कि आप कितना ख़याल रखते हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा
Q:Good leaders look to create more leaders, bad leaders look to create followers.
हिंदी में : अच्छे लीडर्स और लीडर्स बनाने की चेष्ठा करते हैं, बुरे लीडर्स और फालोवार्स बनाने की चेष्ठा करते हैं.
Shiv Khera शिव खेड़ा

Q: It is not God that is worshiped but the group or authority that claims to speak in His name. Sin becomes disobedience to authority not violation of integrity.
हिंदी में : भगवान् की पूजा नहीं होती बल्कि उन लोगों की पूजा होती है जो उनके के नाम पर बोलने का दावा करते हैं.पाप पवित्रता का उल्लंघन नहीं ऐसे लोगों की आज्ञा का उल्लंघन बन जाता है.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन
Q: All our world organizations will prove ineffective if the truth that love is stronger than hate does not inspire them.
हिंदी में : दुनिया के सारे संगठन अप्रभावी हो जायेंगे यदि यह सत्य कि प्रेम द्वेष से शक्तिशाली होता है उन्हें प्रेरित नही करता.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन
Q: Only the man of serene mind can realize the spiritual meaning of life. Honesty with oneself is the condition of spiritual integrity.
हिंदी में : केवल निर्मल मन वाला व्यक्ति ही जीवन के आध्यात्मिक अर्थ को समझ सकता है. स्वयं के साथ ईमानदारी आध्यात्मिक अखंडता की अनिवार्यता है.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन
Q: Age or youth is not a matter of chronology. We are as young or as old as we feel. What we think about ourselves is what matters.
हिंदी में : उम्र या युवावस्था का काल-क्रम से लेना-देना नहीं है. हम उतने ही नौजवान या बूढें हैं जितना हम महसूस करते हैं. हम अपने बारे में क्या सोचते हैं यही मायने रखता है.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन
Q: Books are the means by which we build bridges between cultures.
हिंदी में : पुस्तकें वो साधन हैं जिनके माध्यम से हम विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण कर सकते हैं.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन
Q: Arts reveal to us the deeper layers of the human soul. Art is possible only when heaven touches earth.
हिंदी में : कला मानवीय आत्मा की गहरी परतों को उजागर करती है. कला तभी संभव है जब स्वर्ग धरती को छुए.
Sarvepalli Radhakrishnan सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Please generate and paste your ad code here. If left empty, the ad location will be highlighted on your blog pages with a reminder to enter your code.

Announcement List

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All original content on these pages is fingerprinted and certified by Digiprove