How to make a business plan

दोस्तों ,

बिज़नेस  प्लानिंग  … आखिर  क्या  होता  है  बिज़नेस  प्लान  ..इसे  क्यों  और  कैसे  किया  जाता  है  इसके  क्या  फायदे  हैं  ..इसके  करने  के  लिए  क्या  ध्यान  देना  चाहिए  …इसे  क्यों  बनाये  ..ये  सब   सवाल आपके  हैं  जो  अक्सर  आप  मुझसे  पूछते  हैं  …तो    दोस्तों  आज  लाया  हूँ  आपके  लिए  इन्ही  सवालों  के  जवाब  …..सबसे  पहले  जानते  हैं

  बिजनेस प्लान क्या होता है?  What is a Business Plan ?

बिजनेस प्लान एक ऐसा  document  है जो किसी नए Business  से रिलेटेड  “क्या”, “क्यों”, और “कैसे” जैसे प्रश्नों का उत्तर देता है। हमको जानना होता है कि

हमारा बिजनेस क्या है ?

हम ये बिजनेस क्यों कर रहे हैं?

 हम इसे कैसे करेंगे ?

 Business Plan

किसी Business  को,

उसके Objectives  को,

उसकी strategies को,

वो किस Market में  काम कर रहा है

उसके financial forecast  क्या हैं .

नए बिजनेस का Goal क्या है

उसे कैसे Achieve किया जाएगा।

बिज़नस प्लान एक तरह से  बिजनेस के रोडमैप की तरह है, जो चीजों को ट्रैक पर रखने में मदद करता है।

 

दोस्तों  ,

 जब भी कोई  नया बिजनेस Start करता है तो ज़रूर उसको लेकर कुछ प्लानिंग करता है।

 वो सोचता है  मेरा बिजनेस क्या होगा?

मैं कहाँ से ये बिजनेस करूँगा?

मेरे कस्टमर कौन होंगे?

 इसमें इन्वेस्टमेंट कितनी लगेगी?

 हम अपने बिजेनस की मार्केटिंग कैसे करेंगे?

हमारा लक्ष्य क्या होगा? कुछ बेसिक क्वेश्चन होतें हैं

लेकिन बहुत से लोग इन चीजों को लिखित रूप में नहीं करते।

Business Plan …   इन्ही बातों को formally document करना है।

अक्सर बिजनेस प्लान किसी नए Business के लिए बनाया जाता है लेकिन अगर कोई Existing  बिजनेस कुछ नया कर रहा है तो वो भी बिजनेस प्लान बनाकर आगे बढ़ता है।

कुछ लोग सोच सकते हैं कि आखिर इसकी ज़रूरत क्या है?

तो वे ये जान लें कि स्टडीज में पाया गया है कि जो बिजनेस एक अच्छे बिजनेस प्लान के साथ शुरू होते हैं उनकी Success होने के चांसेज  बढ़ जाते हैं।

आइये कोशिश करते हैं यह जानने कि बिजनेस प्लान की आवश्यकता क्या है? Why do I need a business plan

इस सम्बन्ध में मेरा मानना है कि बिजनेस प्लान आपको अपने  Goals पर Focused रहने में मदद करता है।

अच्छा बिजनेस प्लान बताता है कि:

अगले 5 सालों में आपके key objectives क्या-क्या होंगे?

उन Objectivesको Achieve करने के लिए आपकी स्ट्रेटेजी क्या होगी

आपकी priorities क्या होंगी

इन चीजों के अनुसार आप किसी भी समय Business evaluate कर सकते हैं

कि आप जिस direction में बढ़ रहे हैं वो सही है या change करने की ज़रूरत है।

यदि आप खुद पैसा लगाते हैं हैं तो भी आपको बिजनेस प्लान ज़रूर बनाना चाहिए। ऐसा करने का सबसे बड़ा Advantage है कि आपके खुद के दिमाग में clarity आती है कि exactly आप क्या और कैसे करना चाहते हैं।         Business Plan बिजनेस का overview देने और आप कैसा Performance कर रहे हैं, ये दर्शाने के लिए एक बहुत बढ़िया Tool है।

बिजनेस प्लान कैसे बनाएं? / 

बिजनेस प्लान बनाने के लिए आप नीचे बताये गए तरीके का प्रयोग करें:

ये  ध्यान रखिये कि बिजनेस प्लान में लिखी बातें पत्थर की लकीर नहीं हैं.

समय समय पर परिस्थितियों के हिसाब से बिजनेस प्लान में बदलाव किया जा सकता है।

 

किसी बिजनेस प्लान में निम्लिखित Sections  होते हैं:

Executive Summary / कार्यकारी सारांश

Executive Summary अपनी पूरी योजना के मुख्य बिंदुओं का एक सार है। इसमें बिजनेस प्लान के बाकी Sections की मुख्य बात  समाहित  होती है। इसमें business opportunity के key features से लेकर Financial forecast की प्रमुख बातें बताई जाती हैं।इसका उद्देश्य होता है कि बिजनेस की Basic बातों को अच्छे से बताया जाए।

यह बहुत लम्बी नहीं होनी चाहिए  2-3 पेज पर्याप्त हैं, साथ ही कोशिश करनी चाहिए कि ये रोचक भी हो ताकि potential investors इसे पढ़े और इसके बारे में आगे जानने के लिए उत्सुक हों चूँकि इस सेक्शन में बाकी के बिजनेस प्लान का सार होता है इसलिए इसे अंत में लिखें

Introduction and Company Overview/ परिचय और कम्पनी ओवरव्यू

Business opportunity का छोटा सा डिस्क्रिप्शन- आप कौन हैं, आप क्या बेचने या ऑफर करने का प्लान कर रहे हैं, क्यों, और किसे।

बिजनेस के overview के साथ शुरू करें:

  • आपने बिजनेस कब Start  किया या कब से Start  करने का प्लान कर रहे हैं

कितनी प्रोग्रेस हुई है

आपका बिजनेस किस टाइप का है

किस सेक्टर में आता है

अब तक कितना इन्वेस्टमेंट किया जा चुका है

 

यदि आपने ये बिजनेस किसी से buy किया,

तो पहले इसका मालिक कौन था

उन्होंने इससे क्या हासिल किया

इस समय का लीगल स्ट्रक्चर

आपका Vision and mission

इसके बाद अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को सरल शब्दों में बताइए और समझिए कि:

इसे क्या अलग बनाता है

क्यों कस्टमर्स अन्य competitors की बजाये आपसे इसे खरीदेंगे

आप अपने products या services को कैसे Develop करेंगे

क्या आपके पास कोई  ट्रेड मार्क्स ,पेटेंट्स या डिजाईन रजिस्ट्रेशन हैं

आपकी इंडस्ट्री के key features और success factors क्या-क्या हैं

Market and Competitors/ बाज़ार और कम्पटीशन

इस सेक्शन में आपको

अपना बाज़ार,

उसमे आपकी पोजीशन

अपने competitors को Define करना चाहिए।

ऐसा करने के लिए आप किसी Market Research जो आपने की हो का Reference  दे सकते हैं। इसमें आपको ये दर्शाना होता है कि आपको जिस मार्केट में काम करना है उसकी आपको अच्छी समझ है और आप ज़रूरी ट्रेंड्स और market conditions को समझते हैं।

इसमें आपको ये बताने की कोशिश करनी होती है कि प्रतिस्पर्धा के बावजूद आप customers को attract कर पायेंगे और अपना बिजनेस चला पाएंगे इन चीजों को इस सेक्शन में रखा जा सकता है:

आपका मार्केट- उसकी साइज़, उसके विकास का इतिहास, और key current issues

आपका टार्गेट कस्टमर बेस- वे कौन हैं

आप कैसे कह सकते हैं कि वे आपके products और services में interested होंगे

आपके competitors- वे कौन हैं, वे कैसे काम करते हैं और उनका market share कितना है

-आगे चल कर इस बिजनेस में क्या बदलाव आ सकते हैं और आप उसपर कैसे रिएक्ट करेंगे

अपनी तुलना में अपने competitor की strength और weakness जानना ज़रूरी है-

और अच्छा होगा कि आप अपने main competitor’s की competitor analysis कर लें।

SWAT Analysis कर लें।

आपके कस्टमर्स की ज़रूरतें बदल सकती हैं और आपके competitor भी बदल सकते हैं।

इसलिए आपको इन बातों को भी माइंड में रख कर आगे बढ़ना होगा।

Sales and Marketing Strategy /सेल्स और मार्केटिंग स्ट्रेटेजी

आप ऐसा क्यों सोचते हैं कि आप जो बेचना चाहते हैं या जो सर्विस देना चाहते हैं वो लोग क्यों लेंगे और आप उसे किस तरह कस्टमर तक पहुंचाना चाहते हैं।

Describe करिए कि आप अपनी products और services को प्रमोट और सेल करने के लिए क्या-क्या activities करेंगे। अकसर ये किसी बिजनेस प्लान की कमजोर कड़ी होती है इसलिए इस पर समय देना चाहिए और एक realistic और achievable approach अपनाना चाहिए।

आपके प्लान को इन प्रश्नों का उत्तर देना चाहिए:

आप किसी तरह अपने प्रोडक्ट या सर्विस को मार्किट में पोजीशन करने का प्लान कर रहे हैं।

आपके कस्टमर्स कौन हैं?

उन कस्टमर्स की डिटेल दीजिये जिन्होंने आपके प्रोडक्ट या सर्विस में रूचि दिखाई है।

बताइए कि आप नए कस्टमर्स को कैसे attract करने का प्लान कर रहे हैं।

आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस को कैसे प्रमोट करेंगे?

अपने सेल्स प्रोसेस Method को identify करिए, for Example  डायरेक्ट मार्केटिंग, advertising, social media.

आप अपने कस्टमर्स तक कैसे पहुंचेंगे?

आप किन चैनल्स का इस्तेमाल करेंगे?

आपके distribution channel में किन पार्टनर  की ज़रूरत पड़ेगी?

आपकी pricing policy क्या है?

अलग-अलग Segment के कस्टमर्स से आप किस तरह चार्ज लेंगे?

आप अपनी selling कैसे करेंगे?

क्या आपका कोई Sales Plan है ?

क्या आपने सोचा है कि आपके लिए कौन सा Sales Method सबसे अच्छा होगा,

फ़ोन से,

इन्टरनेट के माध्यम से,

दूकान खोल कर

डोर टू डोर मार्केटिंग करके सेल करना ?

और क्या आपका proposed sales method आपके मार्केटिंग प्लान से मेल खाता है?

और क्या आपके और आपके टीम के पास इस Method के लिए पर्याप्त Skills हैं?

Operations /ऑपरेशंस

आपके बिजनेस प्लान में आपकी premises,

Production facilities,

Management information system

और Information Technology के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

आपको इन चीजों पर फोकस करना चाहिए:

Location-

आपकी मौजूदा लोकेशन के क्या फायदे और नुकसान हैं?

क्या आपकी कोई बिजनेस Property  है?

क्या आप इस प्रॉपर्टी के मालिक हैं या ये
Rented है?

 

प्रोडक्ट्स और सर्विसेज का उत्पादन

अगर आपकी अपनी production facility है तो वो कितनी Modern हैं?

 

क्या आपको अपनी प्रोडक्शन फैसिलिटीज की ज़रूरत है या इसे outsource करना सस्ता पड़ेगा?

 

क्या किसी इन्वेस्टमेंट की ज़रूरत पड़ेगी?

आपके सप्लायर्स कौन होंगे?

एक्सपेक्टेड डिमांड की तुलना में आपके फैसिलिटी की Capacity कितनी है?

मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम्स (प्रबंधन सूचना प्रणाली)

क्या आपके पास Stock control, management accounts और quality control  के लिए procedures हैं?

क्या Future में Expand  करने पर ये System upgrade हो सकते हैं?

सूचना प्रौद्योगिकी  IT

अब लगभग हर बिजनेस में IT का रोल महत्त्वपूर्ण हो गया है, इसलिए इस एरिया में अपने strength और weaknesses को include करिए।

अपने सिस्टम की विश्वसनीयता और नियोजित विकास को Outline करिए।

 

Financial Information / वित्तीय जानकारी

आपने अब तक जो कुछ भी कहा है उसे नंबर्स में Present  करना होता है।

आपको इन चीजों को ध्यान से देखना होगा:

आप अपना लोन कैसे चुकाने का प्लान कर रहे हैं

आप देनदारों को as a security क्या दे सकते हैं

आप एक्सटर्नल फंडिंग का सोच रहे हैं तो आपको कितना कैपिटल चाहिए होगा

आपके रेवेन्यु और इनकम के स्रोत क्या-क्या हैं या होंगे

फाइनेंसियल प्लानिंग (वित्तीय योजना )

आपका forecast अगले  4या 5 साल तक का होना चाहिए। पहले 12 महीनो का फोरकास्ट पूरी डिटेल के साथ होना चाहिए। आप अपनी प्रोजेक्शन्स के पीछे के assumptions को ज़रुर बताएं ताकि बिजनेस प्लान पढने वाले को ये समझ आ सके कि आप इन Numbers तक कैसे पहुंचे।

आपके Business Forecast  में क्या-क्या होना चाहिए?

Cash flow statement  –आपका cash balance और अगले 12 से 24 महीनो के लिए cashflow pattern कैसा होगा, ये बताना चाहिए।

इसका लक्ष्य है

ये ensure करना कि आपके बिजनेस को जारी रखने के लिए आपके पास पर्याप्त Working Capital होगा।

इसके लिए आपको अपनी Sales और employees की सैलरी, और बाकी खर्चों को ध्यान में रखना होगा।

Profit and Loss Forecast- अपनी प्रोजेक्टेड सेल्स, और खर्चों को ध्यान में रखकर आप कितना प्रॉफिट / लॉस एक्स्पेक्ट कर रहे हैं। अक्सर नए बिजनेस शुरू में Loss में चलते हैं और बाद में Profit में आ पाते हैं।

Risk Analysis ( जोखिम विश्लेषण)

Financial forecast  के साथ-साथ ये एक अच्छी प्रैक्टिस है कि आप ये दिखाएं कि आपने अपने बिजनेस में आने वाले संभावित खतरों को भी Analyze कर लिया है। और साथ ही आप इनसे निपटने के लिए insurance या अन्य तरीकों को अपना  रहे हैं।

रिस्क एनालिसिस में इन फैक्टर्स का ध्यान रखना होगा:

ऑपरेशनस- IT, technology और प्रोडक्शन Failure

Commercial issues – सेल्स, prices, deliveries

 

स्टाफ- स्ट्राइक, , high salary demand

Competitors द्वारा कोई Action

प्राकृतिक आपदाएं / Act of God- बाढ़, भूकम्प, आग लगना

  1. Appendix

ये ज़रूरी नहीं है पर आप चाहें तो बिजनेस प्लान के अंत में आप एक अपेंडिक्स add कर सकते हैं। इसमें पूरे प्लान के supporting documents add किये जा सकते हैं।

example:

प्रमुख एम्प्लाइज के CVs

वेंडर्स के साथ आपके कॉन्ट्रैक्ट पेपर्स

आपके, पेटेंट्स, ट्रेडमार्क्स, इत्यादि

Charts, graphs, or tables

रेंट अग्रीमेंट, लीज अग्रीमेंट, इत्यादि

Key contacts की डिटेल्स

 

 कुछ टिप्स

प्लान को छोटा रखें- अगर प्लान बहुत लम्बा होगा तो इसे पढने के chances कम हो जायेंगे।

प्लान में numbering के साथ content page ज़रूर include करें

Executive Summary को अंत में लिखें

भले ही प्लान in-house use के लिए बनाया जा रहा हो पर आप यही सोच कर बनाएँ कि इसे कोई पार्टी भी पढ़ सकती है

जहाँ अधिक डिटेल देनी पड़े वहां चीजों को अपेंडिक्स में डाल दें और बाकी सेक्शन्स हल्का रखें

कोई confidential details प्लान में include ना करें

समय के साथ प्लान को update करते रहें

सावधानी से एडिट करें- इसमें आप अनुभवी लोगों या एक्सपर्ट्स की मदद ले सकते हैं

किसी आम आदमी से प्लान शेयर करें

जानने की कोशिश करें कि वो चीजों को आसानी से समझ पा रहा है या नहीं।

चीजों को और सिंपल तरीके से बताने का प्रयास करे

प्लान खुद ही बनाएं या अपने guidance में अपनी टीम से बनवाएं

 

कुछ चीजें जैसे कि, स्टाफ ट्रेनिंग प्लान और डिटेल्ड सेल्स प्लान बिजनेस प्लान में ना ही include करें, भले आप ये मेंशन कर दें कि ये आपके पास मौजूद हैं

प्लान की एक-एक चीज को बारीकी से समझें ताकि आप किसी भी तरह के प्रश्नों का संतोषजनक उत्तर दे सकें

ये भी ensure करें कि आपका प्लान realistic है

 

एक और बात ये कि बिजनेस प्लान सिर्फ बड़े-बड़े बिजनेस के लिए नहीं होता, ये medium  या small business के लिए भी उतना ही ज़रूरी है। ये ज़रूर है कि स्माल बिजनेस का बिजनेस प्लान थोड़ा ब्रीफ होगा और ये भी हो सकता है कि उसमे आप कुछ सेक्शंस को ना शामिल करें, लेकिन समझदारी इसी में है कि आप चाहे जिस साइज़ का बिजनेस प्लान कर रहे हों बिजनेस प्लान जरुर बनाएं।

किसी भी बिज़नेस को आगे बढ़ने तथा ग्रोथ के लिए यह आवश्यक है कि बिज़नेस प्लान अच्छा हो ,क्लियर हो , ऑप्टिमिस्टिक हो और गोल सहित हो ……एक एक कदम आगे कि ओर बढ़ाये और एन्जॉय योर success………..

आगे कि पोस्ट में फिर कुछ नया लाऊंगा आपके लिए ..आपसे अनुरोध है कि मेरा ब्लॉग औरों को भी पढ़ाये ,खुद भी पढ़ें ..सब्सक्राइब करें कमेंट लिखें ..आपके हौसले कि जरुरत हमेशा होती है जो मुझे आगे बढ़ने कि ओर प्रेरित करता है ..आशा है आप सहयोग करेंगे ..आपको सिर्फ इतना करना है कि आपके फेसबुक पेज में मेरे इस वेबसाइट का लिंक शेयर करें ….व्हाट्सप्प में लिंक करें …..यदि आप स्टूडेंट हैं तो अपने स्कूल में अपने साथियों को भी बताएं….

Santosh Pandey.in

Enjoy your Success …..

Please generate and paste your ad code here. If left empty, the ad location will be highlighted on your blog pages with a reminder to enter your code.

Personal Development Hindi blog

Announcement List

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All original content on these pages is fingerprinted and certified by Digiprove