What is learned from failure ?:क्या सीखा असफलता से ?

दोस्तों ,

आज प्रारम्भ और अंत दोनों एक प्रश्न से करूँगा ..प्रश्न यह है की असफलता से आप ने क्या सीखा ? जब स्थिति अनकूल नहीं दिखाई पड़ती failure का वक़्त होता है ..तब आपको गहन चिंतन की आवश्यकता होती है न की चिंता की …तो आइये कुछ हम भी गहन चिंतन प्रारम्भ करें ….आइये सबसे पहले जानते है की इस असफलता के कौन से कारण अक्सर सुनाये या बताये जाते हैं उन व्यक्तियों द्वारा जो कहते हैं की वो अमुक कार्य में असफल हो गए हैं ….कुछ मुख्य बिन्दुओं को उद्धृत करता हूँ
१) कार्य सही ढंग से नहीं किया गया …..Planning
२)कार्य में १००% रूचि नहीं थी………….Interest
३)कार्य नियोजन की सही प्रक्रिया नहीं अपनायी गयी……..Execution
४)स्थितियों के अनुसार प्रक्रिया में बदलाव नहीं हुए………Change
५)छोटी -२ गलतियों में सुधार नहीं कर पाये…………Improvement 
६)कार्य आवश्यकता के अनुरूप नहीं था………Need 
७) कार्य में संतुलन नहीं बनाया जा सका………Balance
८)कार्य में बहुत सारी त्रुटियों को यूँही छोड़ दिया गया….Negligence 
९)आवश्यक पद्धति का आविष्कार नहीं हुआ…….Invention 
१०)समय पर ध्यान नहीं दिया गया ……….Time management
११)निर्णय सही नहीं था ……………Judgement
१२)पैसे की कमी हो गयी………..Finance 
१३)रिपोर्ट सही नहीं थी…………….Report 
१४)सही व्यक्तियों का चुनाव नहीं था ………Human resource
१५)सही नियम नहीं बनाये गए………….Rules & Regulation
१६)गलत जगह का चुनाव किया गया…..Market Place
१७)उपभोक्ता गलत लोग थे…….Consumer
१८)कार्य असंतोष प्रद था और बाद में भी किसी ने ध्यान नहीं दिया …Satisfaction &                                                                                                                    After sale sarvices
१९)संगत ठीक नहीं थी ……….Vendor & Contractors
२०)सही दिशा नहीं थी ,पता नहीं चला क्या करना था और क्या हो गया…Goal

आज सिर्फ इन्ही २० बातों की बात मैं कर रहा हूँ जो अक्सर आप भी सुनते होंगे …इन्ही २० बातों में आपके बिज़नेस का सार छुपा है ..आपको जरुरत है इनको समझने की ….इन छोटी और महत्वपूर्ण बातों पर गौर करने की …..
फिर कहता हूँ आप इन्ही २० बातों का ख्याल रख लें तो आप और आपका बिज़नेस असफल नहीं हो सकते ….
यह भी बताता चलूँ की आज आपको जरुरत नहीं है की पहले फेल हों और फिर उससे कुछ सीखे …बल्कि औरों की गलतियों का आकलन कीजिये और उनकी गलतियों से सीखे न की उन्हें दोहराइए …
आज आवश्यकता इस बात की है की आप कितने समय में इन असफल लोगों से सफलता के अपने लिए कितने आयाम ढूढ़ पाते हैं ..आज आवश्यकता इस बात की है की गलतियां दोहराने के बजाय उन रास्तों की तलाश करें जिनसे वो गलतियां दुबारा हो ही ना…
आप भी सहमत होंगे इस बात से है ना ?
इसी प्रश्न के साथ इस छोटे से लेख का अंत करता हूँ …आप इस लेख के अंतिम प्रश्न के साथ उपरोक्त २० कारण जरूर दुबारा पढ़े और मनन करें ……”मन के हारे हार है ,मन के जीते जीत ” किसी ने जरूर कहा है और सतप्रतिशत सही कहा है ..तो लग जाइए ….असफलता से क्या सीखा ? अगले किसी लेख में बताऊंगा की असफलता को ही सफल होने का कारण कैसे बनाया जाए ? अभी आप सोचिये …यही इस लेख का अंतिम प्रश्न है जो मैंने प्रारम्भ में कहा था …..एन्जॉय योर सक्सेस …..और हाँ अपने आसपास साफ़ रखें ,स्वच्छ रहें और सुरक्षित रहें …..धन्यवाद

Please generate and paste your ad code here. If left empty, the ad location will be highlighted on your blog pages with a reminder to enter your code.

Santosh Pandey

Announcement List
Thanks for your valuable comments.....mail me at pandey.santosh05@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All original content on these pages is fingerprinted and certified by Digiprove