Chennai Flood Express

दोस्तों , प्रकृति एक बहुत अच्छी शिक्षक होती है ,अभी चेन्नई बाढ़ के कारण पूरा देश प्रार्थना कर रहा है वहां के बाशिंदों के लिए ….मनुष्य हमेशा प्रकृति से खिलवाड़ करता रहा है और प्रकृति गाहे बगाहे इसका दंड देती रही है चाहे वह उत्तराखंड का जल प्रवाह हो या चेन्नई की बाढ़ ….मनुष्य फिर भी न समझने की भूल करता जा रहा है …एक इसी बाढ़ के बीच से व्यथा आई है जिसका उल्लेख अगली पक्तियों में कर रहा हूँ … एक सिस्टम एनालिस्ट की व्यथा है जो अमेरिकन सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्य करता है उसका ऑफिस चेन्नई में है ..वह कहता है की वह १८ लाख प्रति वर्ष सैलरी के रूप में कमाता है ,३ BHK का घर एक पॉश एरिया में है ..आज उसके पास १ लाख क्रेडिट लिमिट वाले दो क्रेडिट कार्ड हैं …उसके अकॉउंट में ६५ लाख रूपये जमा हैं …परन्तु इस भयानक बाढ़ के कारण वह घर से निकलने में बिलकुल असमर्थ है ..चारो तरफ सिर्फ पानी ही पानी है …और उसके लिए सबसे जरुरी है पीने के लिए पानी और जीने (survival) के लिए कुछ खाना … वह आगे कहता है की वह पिछले सप्ताह तक वह अपने अप्रैज़ल को लेकर परेशान था ..वह अपनी सैलरी में atleast १५% की hike चाहता था परन्तु अभी आवश्यकताएं किस तरह बदल गयी हैं कि वह अपने बालकनी में खड़ा होकर वह सिर्फ एक फ़ूड पैकेट का इन्तजार कर रहा है …… दोस्तों यह सच्ची कहानी आपको प्रकृति से वृहद संवाद कराती है .. अभी भी समय है वक्त रहते संभल जाओ वरना ………….

“पीढ़ियां आएँगी हसेंगी हमपर”

raise your words not your voice_front cover.jpg

Santosh pandey

Announcement List

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *