एक आम स्टूडेंट की कहानी

ek aam student ki kahani

यह अनुभव शेयर किया है श्री अजय कुमार वर्मा जी ने जो वर्तमान में निदेशक के पद पर  बड़ौदा स्व रोजगार विकास संस्थान  RSETI में कार्यरत हैं यह अनुभव शेयर करते हुए उन्होंने अपने जीवन के कुछ बिंदुओं पर प्रकाश डाला है की किस प्रकार  एक आम आदमी के घर का बच्चा भी  अपने मेहनत और लगन से सक्सेस की उचाईयों को प्राप्त कर सकता है लेखक एक छोटी सी उम्र में ही बैंक ऑफ़ बड़ौदा के संस्थान में डायरेक्टर पद पर सुशोभित होकर बेहतरीन कार्य कर रहे हैं और लोक निर्माण में योगदान दे रहे हैं

लेखन में कदम रखते हुए उन्होंने बताया की सुशांत सिंह राजपूत की अचानक मौत (आत्महत्या ) से उन्हें लेखन की इच्छा हुई क्यूंकि एक सक्सेस प्राप्त व्यक्ति के इस कदम की उम्मीद नहीं थी किन्तु आगे हमारे युवा इस कदम की तरफ न जाएँ इसलिए उन्हें सही राह दिखाने की आवश्यकता है  जल्दी ही हमारे वेबसाइट पर उनके लेख पढ़ने को मिल सकते हैं।

 

एक आम स्टूडेंट की कहानी

(अपने अनुभव को साझा कर रहा हूँ, शायद जो लोग कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हो, तो उन्हें कुछ सीख मिल सके)

 

ये बात तो बिल्कुल ही सही है कि पढ़ाई करो नौकरी की चिंता ना करो। नौकरी तो सभी के लिये है, बस ये जरूरत है कि ईमानदारी से प्रयास किया जाय। हो सकता है कि आपके अन्दर इतनी काबलियत ही कि कोई कंपनी/ बिज़नेस शुरू दे और दूसरों को भी नौकरी दे सके।

मैं एक mediocre स्टूडेंट्स था। मैं जब कॉलेज से pass out हुआ तो हमारे समय मे तो कैंपस प्लेसमेंट भी नहीं होता था और कोई alumni base भी नही था। मगर एक जुनून था कि पढ़ाई किया है तो नौकरी तो करना ही है। 2005 में, PG की पढ़ाई पूरी करते ही, कई कंपनियों के HR से सम्पर्क करने से इंटरव्यू के मौका मिला और जॉब ऑफर भी मिल गया। उसके बाद तो भगवान की कृपा से 6 प्राइवेट कंपनियों काम करने मौका भी मिला मगर जब 30 साल का होने वाला था तब मैं प्रबंधक के रूप में कल्पतरु ग्रुप के प्रधान कार्यालय, मुंबई में कार्यरत था, उसी समय जब बैंक में पोस्ट आई तो सोचा कि चलो आखरी मौका सरकारी बैंक में नौकरी करने का है, एक प्रयास करते है। मेहनत रंग लाई और नौकरी करते हुये, प्राइवेट सेक्टर से PSBs में आने का मौका मिल गया।

इस लिये आप सभी को ये बताना चाहता हूँ कि मौका सभी के जिंदगी में आता है बात ये है कि मौके को आप पहचान पाते है या नही। प्रयास करते रहिये सफलता आपके कदम चुमेगी।

All the best to everyone for your future endeavors.

Ajay Kumar Verma

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *