Raise your Words not your Voice

दोस्तों ,
“आप प्रभावशाली तभी होते हैं जब आपके बोले हुए शब्द प्रभावशाली हों..आइये जानते हैं किस तरह और क्यों हमारे इस्तेमाल किये गए शब्द दूसरों पर “कितना” प्रभाव डाल सकतें हैं ,
मनुष्य परिस्थितियों का दास होता है परन्तु परिस्थितियों में चुनाव वह स्वयं करता है …आज जब हम २१ वीं सदी में जी रहें हैं तो हमे जानना आवश्यक है की किस तरह हम परिस्थितियों का निर्माण कर सकते हैं  …आप किसी संस्था के कर्मचारी हैं या आप स्वयं बॉस हैं किस प्रकार अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से सफलतापूर्वक कार्य कराया जा सकता है
किस तरह आपका “प्रभावशाली शब्द” आपके लिए कार्य करता है और किस तरह आपकी Voice आपका साथ देती है …voice का इस्तेमाल किस तरह किया जाये …आपका टोन कैसा हों जब आप आदेश देते हैं ?……………”

दोस्तों …यह मेरे आने वाली दूसरी किताब का एक छोटा सा  हिस्सा है जो जल्द ही आपके आशीर्वाद के लिए आपके सामने रखूँगा ..तब तक मेरी पहली किताब २१ ways to find your Destiny  पढ़ें और आपके सुझाव मुझे भेजें ..आपके लगातार मेल मुझे मिल रहे हैं इसके लिए dhanyavaad

santosh

Santosh Pandey

Announcement List
मेरी पहली किताब पर आपके भरपूर प्यार दुलार के बाद जल्द ही दूसरी किताब आपके समक्ष आने वाली है ........थोड़ा सा इन्तजार करें ...

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *